Thursday, March 3, 2011

न होती तुम तो मैं न होता...



न होती तुम तो मैं न होता
न जागती तुम तो मैं न सोता
सुकून था तेरे आँचल में हमेशा
न होती तुम तो मैं था रोता

हर शब्द दुआ है तुम्हारी
हर स्पर्श दवा है तुम्हारी
गिर कर हमेशा मैं न संभलता
न होती तुम तो मैं न होता

हर साँसे मेरी तुम से ही चलती
हर बातें मेरी तुम पर ही रूकती
हर बातें मेरी कौन था सुनता
न होती तुम तो मैं न होता

चली गयी तुम, न रोक पाया तुम्हे
खो गयी तुम, न खोज पाया तुम्हे
खुदा भी रोया, न रोक पाया खुद को
जो होती तुम तो वो न रोता

- साहिल 

9 comments:

  1. ये चंद पंक्तियाँ मेरी माँ को समर्पित है...

    ReplyDelete
  2. शुभागमन आपका...
    हिन्दी ब्लाग जगत में तेजी से आगे बढने के लिये आप हिन्दी के अन्य ब्लाग भी देखें व अच्छे लगने पर उन्हें फालो भी करें । आपकी सुविधा के लिये मैं 'नजरिया' ब्लाग में 18-2-2011 को प्रकाशित लेख "नये ब्लाग लेखक के लिये उपयोगी सुझाव" की लिंक आपके लिये यहाँ छोड रहा हूँ । आप इस लेख को अवश्य पढें और इस ब्लाग को फालो भी करें । निश्चित रुप से आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे ।
    फिर मुलाकात की कामना सहित...

    ReplyDelete
  3. I have no words to comment on this...

    ReplyDelete
  4. dil kho chu gayi tumhari baatein...

    ReplyDelete
  5. धन्यवाद् मित्रो!

    ReplyDelete
  6. अच्छा प्रयास है....
    प्रयास अच्छा लगा इसलिए फॉलो भी कर लिया, आप भी आइए...
    http://veenakesur.blogspot.com/

    ReplyDelete
  7. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा. हिंदी लेखन को बढ़ावा देने के लिए तथा प्रत्येक भारतीय लेखको को एक मंच पर लाने के लिए " भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" का गठन किया गया है. आपसे अनुरोध है कि इस मंच का followers बन हमारा उत्साहवर्धन करें , साथ ही इस मंच के लेखक बन कर हिंदी लेखन को नई दिशा दे. हम आपका इंतजार करेंगे.
    हरीश सिंह.... संस्थापक/संयोजक "भारतीय ब्लॉग लेखक मंच"
    हमारा लिंक----- www.upkhabar.in/

    ReplyDelete
  8. इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  9. हौसला-अफज़ाई के लिए सभी सह-ब्लोग्गर्स का मैं तहे दिल से शुक्रियादा करता हूँ...
    और आशा करता हूँ की आप को मेरा लेखन कार्य पसंद आया होगा..
    धन्यवाद!

    ReplyDelete